प्रातः स्मरण शिव मंत्र/pratah smaran shiva mantra

प्रातः स्मरण शिव मंत्र/pratah smaran shiva mantra

 प्रातः स्मरण शिव मंत्र/pratah smaran shiva mantra प्रातः स्मरामि भवभीतिहरं सुरेशं गङ्गाधरं वृषभवाहनमम्बिकेशम्। खट्वाङ्गशूलवरदाभयहस्तमीशं संसाररोगहरमौषधमद्वितीयम् ॥१॥   प्रातर्नमामि गिरिशं गिरिजार्धदेहं सर्गस्थितिप्रलयकारणमादिदेवम् विश्वेश्वरं …

Read more प्रातः स्मरण शिव मंत्र/pratah smaran shiva mantra

sandhya vandanam lyrics संध्या वंदन मंत्र

sandhya vandanam pdf

sandhya vandanam lyrics संध्योपासन-विधि  संध्योपासन-विधि संध्योपासन द्विजमात्रके लिये बहुत ही आवश्यक कर्म है। इसके बिना पूजा आदि कार्य करनेकी योग्यता नहीं आती । …

Read moresandhya vandanam lyrics संध्या वंदन मंत्र

मोक्ष का स्वरूप तथा साधन moksh kaise prapt hota hai

मोक्ष का स्वरूप तथा साधन moksh kaise prapt hota hai

moksh kaise prapt hota hai एकदा लक्ष्मणो राममेकान्ते समुपस्थितम् ।  विनयावनतो भूत्वा पप्रच्छ परमेश्वरम् । एक दिन लक्ष्मण जी ने एकान्त में …

Read moreमोक्ष का स्वरूप तथा साधन moksh kaise prapt hota hai